Khabar Bhojpuri
भोजपुरी के एक मात्र न्यूज़ पोर्टल।

बैंक ऑफ बड़ौदा के मुख्य प्रबंधक सहित पांच लोग के खिलाफ धोखाधड़ी के मामला

0 95
सीवान इन्शुरेंस 720 90

गोरखपुर : बैंक ऑफ बड़ौदा बेतियाहाटा के ओर से धोखाधड़ी से राजस्व के जमीन बेच के पईसा हड़पला के बाद सोमवार के डिवीजनल कमिश्नर के पहल प मुख्य प्रबंधक समेत पांच लोग के खिलाफ एसएसपी कैंट थाना में मुकदमा दर्ज कईले बिया तौर-तरीका. बतावल जाता कि 29 अक्टूबर 2020 के सूचना के बाद बेतियाहता, स्वर्गीय मेजर शेषमणि मिश्र के बेटा राजीव मिश्रा ए अखबार में भाग लेले रहले जवना में पीड़िता के तीन गो प्लॉट मिलल रहे अवुरी बैंक के ओर से ओकरा के सूचना दिहल गईल कि छब्बीस लाख चौवन हजार चार सौ रुपया रहे 15 दिन के भीतर जमा कर दिहल जाई ताकि रजिस्ट्रेशन हो सके। उक्त राशि पीड़िता बैंक में जमा कर देले रहे। तीनों प्लॉट के बिक्री प्रमाण पत्र बैंक के ओर से 11 दिसंबर 2020 के मिलल रहे अवुरी बैंक अधिकारी पंकज कुमार, अनिल कुमार सिंह अवुरी वसंत चौधरी, मनोरंजन बोर्ड, मुख्य प्रबंधक बैंक ऑफ बड़ौदा, गोरखपुर के माध्यम से नीलामी से मिलल जमीन के ले लिहले।

भूखंड के इशारा से देखावल गइल आ कहल गइल कि भूखंडन पर माटी के पुल बनावे के काम शुरू कर दिहल जाव. कुछ दिन बाद रउरा रजिस्ट्रेशन हो जाई. एकरा बाद आवेदक के ओर से माटी के पुल बनावे अवुरी समतल करे के काम शुरू भईल। 23 दिसंबर 2020 के सदर तहसील गोरखपुर के राजस्व टीम आके माटी के पुल बनावे आ समतल करे के काम बंद क दिहलस आ कहलस कि ई सरकारी सार्वजनिक पोखरा ह। एकरा के कवनो तरह से ना बनावल जा सकेला ना कब्जा कइल जा सकेला.

ए घटना के जानकारी पीड़िता के ओर से 31 दिसंबर 2020 के बैंक के अधिकारी अवुरी उच्च अधिकारी के लिखित रूप में दिहल गईल रहे, जवना के जवाब में बैंक के ओर से लिखित रूप में कहल गईल कि हमनी के पईसा लेके जमीन देखवनी, अब रउरा समझ में आवत बाड़ू आ आपन काम.. एकरा बाद पीड़ित महिला जिला मजिस्ट्रेट गोरखपुर से जमीन के नाप के दुआ कईलस। पीड़िता के आवेदन के जवाब में लिखल गईल कि इ सरकारी जमीन ह। एकरा बारे में जानकारी खुद पीड़िता के बैंक के उच्च पदाधिकारी कुंवरजीत चौहान से मिलल अवुरी बतवलस। बाकिर कवनो समाधान ना निकलल. पीड़िता के आरोप बा कि…

सरकारी जमीन हमरा बैंक में गिरवी देखा के बेचल गइल आ कुल मिला के सात लाख हमरा ओर से जमा कर दिहल गइल आ जमीन आ लेवलिंग के खरचा कुल मिला के तेतीस लाख चौबीस हजार चार सौ हड़प गइल आ अब ओकरा के मना कइल जा रहल बा. ए घटना के बाद पीड़िता के ओर से आयुक्त गोरखपुर के लिखित आवेदन दिहल गईल, जवना के बाद अपर आयुक्त के ओर से जांच के बाद लिखल गईल कि बैंक के अधिकारी के ओर से धोखाधड़ी भईल बा, बैंक के कर्मचारी अवुरी अधिकारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करावे के चाही .लेकिन मुख्य प्रबंधक समेत पांच लोग के खिलाफ धारा 420, 406 अवुरी 506 के मामला दर्ज भईल।

291910cookie-checkबैंक ऑफ बड़ौदा के मुख्य प्रबंधक सहित पांच लोग के खिलाफ धोखाधड़ी के मामला

ईमेल से खबर पावे खातिर सब्सक्राइब करीं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.