Khabar Bhojpuri
भोजपुरी के एक मात्र न्यूज़ पोर्टल।
Browsing Category

विविध

गोरखपुर में 13 जगहन पs बस क्यू शेल्टर बनवाई नगर निगम : तेज घाम आ बरखा में ना होई पैसेंजर्स के…

गोरखपुर में सिटी बस के इंतजार करे वाला पैसेंजर्स के अब तेज घाम आ बरखा ना झेले के पड़ी। एकरा से बचे खातिर नगर निगम शहर में 13 जगहन पs बस क्यू शेल्टर…

अब दुनिया के मिली भोजपुरी कैलेंडर, दिसम्बर आ जनवरी गायब हो जाई, खासियत जानीं

ई पंचांग मुख्य रूप से भोजपुरी में तइयार हो रहल बा । कैथी आ हिन्दीयो रही, ताकि लोग के समझे में कवनो दिक्कत ना होखे। भोजपुरी फिल्म आ…

गोरखपुर समाचार : स्पाइसजेट के जगह अकासा एयर, जानि कब से उड़ान शुरू हो सकता

हवाई अड्डा के निदेशक अनिल कुमार द्विवेदी बतवले कि अकासा एयर के अधिकारी दिल्ली अउऽरी मुंबई के उड़ान शुरू करे खातीरऽ अनुमति मंगले बाड़े। हवाई अड्डा…

छपरा से चले वाली ट्रेन प्रभावित: इंदरा-फेफना रेलखंड पs काम के लेके रेलवे विभाग लेलस निर्णय, देखीं…

रेलवे प्रशासन कावर से वाराणसी मंडल के इंदारा-फेफना खण्ड पs इंदारा-रतनपुर-रसड़ा के बीच दोहरीकरण के परिप्रेक्ष्य में प्री-नॉन इंटरलॉक, नॉन इंटरलॉक काम…

यूपी बोर्ड के परीक्षा में सख्ती के असर: 3.5 लाख से जादे स्टूडेंट्स छोड़ल लो परीक्षा, बड़ संख्या में…

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के परीक्षा में लगातार स्टूडेंट्स परीक्षा छोड़ रहल बा। एकर मुख्य वजह परीक्षा में बढ़ल सख्ती के मानल जा रहल बा।…

छपरा से होके चले वाली कइयन ट्रेनन के बदलल रूट: किशनगंज-अजमेर एक्सप्रेस समेत एह ट्रेनन में परिवर्तन,…

रेलवे प्रशासन के ओर से वाराणसी मंडल के इंदारा-फेफना खण्ड पs इंदारा-रतनपुर-रसड़ा के बीच दोहरीकरण के परिप्रेक्ष्य में प्री-नॉन इंटरलॉक, नॉन इंटरलॉक काम…

Gorakhpur News: नगर निगम सदन के बैठक काल, पार्षद ज्ञापन देके मेयर के सामने रखले इs महत्वपूर्ण मुद्दा

नगर निगम सदन के बैठक में पार्षद ऋषि मोहन वर्मा निम्नलिखित विषय के सदन के बैठक में शामिल करे के निहोरा कईले बाड़े। मेयर के दिहल ज्ञापन में उs मांग कईले…

पूर्वोत्तर रेलवे के कइयन गो ट्रेन रद्द: बलिया-शाहगंज समेत आउर गाड़ी ना चलिहें सs, वाराणसी मंडल में…

रेलवे के तरफ से लगातार इंजीनियरिंग कार्य कइल जा रहल बा। एही क्रम में वाराणसी मंडल के इंदारा-फेफना खण्ड पs इंदारा-रतनपुर-रसड़ा के बीच दोहरीकरण खातिर…

रिक्शा वाला के नाहीं होत रहे सादी, लइकी ढूंढत थक गइल रहले घरवाला लो, लगवलस अइसन जुगाड़, अब लागल बा…

भारत में बियाह के आदमी के जीवन के बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा मानल जाला। इहाँ लईका-लईकी दुनो खातीर बियाह के उमिर तय कईल गईल बा। अगर ए उमिर के बाद बियाह ना…