Khabar Bhojpuri
भोजपुरी के एक मात्र न्यूज़ पोर्टल।

महुआ आ प्रियंका के ताना- ‘बईठ, प्यार से बोल…वाह मोदी जी वाह’, ‘जुमलाजीवी’ जईसन असंसदीय शब्द प राजनीति भइल शुरू

0 798
सीवान इन्शुरेंस 720 90

तृणमूल कांग्रेस के सांसद महुआ मोइत्रा आ शिवसेना के सांसद प्रियंका चतुर्वेदी असंसद शब्दन में कुछ नया शब्दन के शामिल कइला पर जिब लिहले बाड़न. मोइत्रा अवुरी चतुर्वेदी आज ट्वीट क ए सूची के लेके केंद्र सरकार अवुरी पीएम नरेंद्र मोदी प निशाना साधले।

मोइत्रा एगो ट्वीट में ई बात लिखली

मोइत्रा अपना ट्वीट में लिखले बाड़ी कि बईठ जा। बइठ जाइब प्यार से बात करीं लोकसभा आ राज्यसभा के नयका असंसदीय शब्दन के सूची में संघी शब्द शामिल नइखे. मूल रूप से सरकार अयीसन कईले बिया कि विपक्ष के ओर से इस्तेमाल होखेवाला तमाम शब्द के इस्तेमाल बंद हो जाई। कइसे भाजपा भारत के तबाह करत ओह लोग पर रोक लगावत बिया.’

डाउनलोड करें 7, महुआ आ प्रियंका के ताना- 'बईठ, प्यार से बोल...वाह मोदी जी वाह', 'जुमलाजीवी' जईसन असंसदीय शब्द प राजनीति भइल शुरू, ,

 

प्रियंका चतुर्वेदी पुराने मीम से निशाना बनली

दूसर ओर शिवसेना के राज्यसभा सदस्य प्रियंका चतुर्वेदी पुरनका मीम के हवाला देके केंद्र सरकार के निशाना बनवली। उ ट्वीट कईले कि, ‘ई पुरान मीम याद आईल।’ अगर करब त का करीं, कहब त का कहब? खाली वाह मोदी जी वाह ! ई मीम अब हकीकत जइसन लागत बा!’

डाउनलोड करें 2022 07 14T111639.542, महुआ आ प्रियंका के ताना- 'बईठ, प्यार से बोल...वाह मोदी जी वाह', 'जुमलाजीवी' जईसन असंसदीय शब्द प राजनीति भइल शुरू, , डाउनलोड करें 8, महुआ आ प्रियंका के ताना- 'बईठ, प्यार से बोल...वाह मोदी जी वाह', 'जुमलाजीवी' जईसन असंसदीय शब्द प राजनीति भइल शुरू, ,

जुमलाजीवी, जयचंद, भ्रष्टाचारी, नई सूची में प्रतिबंधित जइसन शब्द

दरअसल, संसद के मानसून सत्र से पहिले लोकसभा सचिवालय असंसदीय शब्दन पर एगो नया पुस्तिका जारी कइले बा. एह में जुमलाजीवी, चाइल्ड विट, कोविड स्प्रेडर अवुरी स्नूपगेट जईसन शब्द, इहाँ तक कि आम तौर प इस्तेमाल होखेवाला शर्म, गाली-गलौज, विश्वासघात, भ्रष्टाचारी, नाटक, पाखंड अवुरी अयोग्य शब्द के अब लोकसभा अवुरी राज्यसभा में असंसद मानल जाई। एह शब्दन के अलावा शकुनी, जयचंद, लॉलीपॉप, चंडाल क्वार्टिट, गुल खिलाए, पिट्टू आदि शब्दन के भी प्रयोग दुनो घर में ना होई।

अगर रउरा ई शब्द कहब त फेर रउरा अशोभनीय व्यवहार के स्वीकार करब

लोकसभा सचिवालय के ओर से जारी भईल नाया पुस्तिका के मुताबिक, अयीसन शब्द के इस्तेमाल के ‘गैरकानूनी आचरण’ मानल जाई अवुरी सदन के कार्यवाही के हिस्सा ना होई। लोकसभा सचिवालय एह तरह के शब्दन आ वाक्यन के नया संकलन असंसद शब्द, 2021 नाम से तइयार कइले बा जवना के असंसद अभिव्यक्ति के श्रेणी में राखल गइल बा. 18 जुलाई से शुरू होखे वाला संसद के मानसून सत्र से ठीक पहिले सदस्यन के इस्तेमाल खातिर जारी एह संकलन में अइसन शब्द भा वाक्य शामिल बा जवना के साल 2021 में लोकसभा, राज्यसभा आ राज्य विधायिका में असंसद घोषित कइल गइल रहे. एकरा हिसाब से जवन शब्द असंसदीय शब्द, वाक्य भा अशोभनीय अभिव्यक्ति के श्रेणी में बा ओहमें कमीना, करिया सत्र, दलाल, खून के खेती, दोहरा चरित्र, बेकार, नौटंकी, थ्रेशिंग, बहिरा सरकार, चिलम लेबे, छोकरा, कोयला चोर, गोरू चोर, चरस पेय, बैल, खलिस्तानी, विनाश आदमी, तानाशाही, तानाशाह, अराजकतावादी, गद्दार, बेइज्जती, गिरगिट, गुंडा, मगरमच्छ के आंसू, झूठ, अहंकार, काला दिन, काला बाजार, घोड़ा व्यापार, दंगा, दलाल, दादा, गरीब , बेमतलब, यौन उत्पीड़न जइसन शब्द भी शामिल कइल गइल बा।

असंसदीय बात के रिकार्ड में ना राखल जाई

सभापति अवुरी अध्यक्ष पीठ प लागल आरोप के लेके भी बहुत सजा असंसद श्रेणी में राखल गईल बा। एह में रउआ हमार समय बर्बाद कर रहल बानी, रउआ हमनी के गला घोंटत बानी, रउआ कुर्सी के कमजोर क देले बानी आ ई कुर्सी अपना सदस्यन के रक्षा करे में सक्षम नइखे, आदि। अगर पीछे से आपत्ति करे वाला कवनो सदस्य कहे कि जब रउवा कुआं पर अईसे चिल्लात जात रहनी त याद करीं उ समय या आज जब रउवा एह सीट प बईठल बानी, त इ बेर याद करीं… तब अयीसन चीज़ As unparliamentary, उ ना करीहे रिकार्ड के हिस्सा के रूप में मानल जाला।

एह राज्यन में भी असंसद शब्द हटा दिहल गइल

असंसदीय अभिव्यक्ति के संकलन में छत्तीसगढ़ विधानसभा में कार्यवाही से हटावल कुछ शब्द भा वाक्य भी रखल गइल बा, जवना में बॉब कट हेयर, गरियाना, एंट-शंट, उचके, उल्टा चोर कोतवाल को दांते आदि शामिल बा। एह में राजस्थान विधान सभा में असंसद घोषित कुछ शब्द भी रखल गईल बा, जवना में पानी पीये के, निपुणता देखावे के आदि शामिल बा।

अइसन शब्द सभापति भा अध्यक्ष के क्रम से बाहर निकालल जाला

एह संकलन में कुछ अंगरेजी शब्द आ वाक्य भी शामिल कइल गइल बा, जवना में आईल कर्स यू, बिटन विद शू, बिट्रेड, ब्लडशेड, चिट, शेडिंग क्रोकोडाइल टीयर, डंकी, गुंडा, माफिया, रबिश, स्नेक चार्मर, टौट, ट्रेटर, विच शामिल बा डाक्टर, बेइज्जती, नाटक, आँखि धोवे, गुमराह, झूठ आ असत्य आदि शामिल बा. संसद सदस्य लोग कबो-कबो सदन में अइसन शब्द, वाक्य भा अभिव्यक्ति के इस्तेमाल करे ला जे बाद में सभापति भा सभापति के आदेश से रिकार्ड भा कार्यवाही से बाहर निकाल दिहल जाला।

नियम ३८१ के मुताबिक असंसद भा अशोभनीय भा संवेदनहीन शब्द के हटा दिहल जाला

लोकसभा में प्रक्रिया आ कारोबार के आचरण के नियम 380 के मुताबिक, जदी सभापति के लागता कि चर्चा के दौरान अपमानजनक चाहे असंसदीय चाहे अशोभनीय चाहे संवेदनहीन शब्द के इस्तेमाल भईल बा त उ सदन के कार्यवाही से एकरा के हटावे के आदेश दे सकतारे। एकरा संगे-संगे नियम ३८१ के मुताबिक सदन के कार्यवाही के जवना हिस्सा के हटावे के बा ओकरा के चिन्हित कईला के बाद कार्यवाही में एगो नोट अयीसन डालल जाला कि सभापति के आदेश के मुताबिक ओकरा के हटा दिहल गईल रहे।

293590cookie-checkमहुआ आ प्रियंका के ताना- ‘बईठ, प्यार से बोल…वाह मोदी जी वाह’, ‘जुमलाजीवी’ जईसन असंसदीय शब्द प राजनीति भइल शुरू

ईमेल से खबर पावे खातिर सब्सक्राइब करीं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.