Khabar Bhojpuri
भोजपुरी के एक मात्र न्यूज़ पोर्टल।

Khuda Haafiz 2 Review: खुद के दोहरावत लउकने विद्युत जामवाल, खुदा हाफिज के दूसरका कड़ी में कुछऊ नया नाइ बा

0 1,705
सीवान इन्शुरेंस 720 90

कुमार मंगत पाठक, अभिषेक पाठक, स्नेहा बिमल पारेख, राम मिर्चंदनी, संजीव जोशी, आदित्य चौकसे, हुसैन हुसैनी आ संतोष शाह, ई आठ लोग मिल के हिंदी सिनेमा के एक्शन हीरो विद्यार्थी जमवाल के एगो नया फिलिम बनवले बा, “खुदा हाफिज चैप्टर 2 अग्निपरीक्षा” के बा।’ एतना निर्माता आ एतना लमहर नाम, का ई फिलिम के पहिला हिस्सा के ओटीटी पर प्रसारित होखे के साइड इफेक्ट बा कि कुछ अउर, ई पता नइखे, बाकिर फिलिम देखला का बाद ई तय बा कि ज़ी स्टूडियो के लगे निश्चित रूप से… आधा मन से एक्शन फिल्म बनावे के क्षमता अलगा से विभाग खुल गइल बा. कहानी होखे भा ना, ई कंपनी हमेशा एक्शन फिल्म में पइसा लगावे खातिर तइयार रहेले. पहिले ‘धाकद’, फेर ‘राष्ट्रकवच ओम’ अवुरी अब ‘खुदा हाफिज 2’।

Khuda Haafiz 2 Review

विद्युत जम्वाल के अग्निपरीक्षा 

41 साल के विद्यार्थी जम्वाल के एक्शन यूएसपी के दुनिया पहिला बेर साल 2011 में रिलीज भईल फिल्म ‘फोर्स’ में देखलस। ओकरा बाद ऊ 11 साल में 12 गो हिंदी फिलिमन में नजर अइले. पिछला दू गो फिलिम ‘द पावर’ आ ‘सनक’ सीधे ओटीटी पर रिलीज भइल रहे आ दर्शकन के एह पर नजरो ना पड़ल. आ शायद एही से फिलिम ‘खुदा हाफिज चैप्टर 2 अग्निपरीक्षा’ के सिनेमाघरन में चहुँपे के जरुरत रहे. अब उनुका परदा पर ‘शेर सिंह राना’ बन के दुनिया के देखावे के पड़ी कि सम्राट पृथ्वीराज चौहान के आखिरी अवशेष अफगानिस्तान से ले आवल केतना बड़हन ‘देशभक्ति’ बा. अलग बात बा कि खुद पृथ्वीराज चौहान प बनल फिल्म ‘सम्राट पृथ्वीराज’ बॉक्स ऑफिस प पानी ना मंगले। फिल्म ‘खुदा हाफिज चैप्टर 2 अग्निपरीक्षा’ के उद्घाटन अवुरी एकर पहिला सप्ताहांत एकर पूरा जिम्मेदारी बा अवुरी इ राह भी फिल्म ‘थोर: लव एंड थंडर’ के मुक़ाबले आसान नईखे।

Khuda Haafiz 2 Review

फारुक कबीर के औसत निर्देशन

विद्युत जम्वाल मार्शल आर्ट में एगो कुशल कलाकार हउवें. कुछ ब्रूस ली जइसन बा. नया पीढ़ी उनुका के टोनी जा से जुड़ल देख सकेले. ‘मॉन्स्टर हंटर’ के दौरान जब टोनी जा के बारे में आखिरी बेर चर्चा भईल रहे त उ बातचीत में विद्युत जम्मवाल के भी जिक्र कईले रहले। हमरा विद्युत के फिलिम ‘यारा’ उनुका करियर के सबले बढ़िया फिलिम लागत बा. विद्युत में एक्टिंग के क्षमता का साथे साथ डिटेल भी बहुते बा बाकिर उनुका के परदा पर ले आवे खातिर उनुका तिगमंशु ढुलिया जइसन निर्देशक के जरूरत बा. निर्देशक फारूक कबीर अपना आखिरी फिलिम ‘खुदा हाफिज’ आ अब ‘खुदा हाफिज चैप्टर 2 अग्निपरीक्षा’ में भी विद्युत के एक्शन हीरो माने पर पूरा ध्यान रखले बाड़न. विद्यार्थी एही नाम से आपन फिल्म कंपनी भी खोलले बाड़े। थ्रिलर आ एक्शन फिलिम सबले बेसी देखल जाला विश्वसिनेमा में. फारूक कबीर आ उनकर आधा दर्जन से अधिका निर्माता भी एह मायने में एह प्रोजेक्ट के बेचे के इरादा से बाजार में उतरल बाड़े. एह फिलिम में फारूक कबीर के निर्देशन औसत दर्जा के बा. ऊ सुरक्षित भूमिका निभावे वाला निर्देशक हउवें आ कहानी में ढेर प्रयोग नइखन कइले.

Khuda Haafiz 2 Review

घिसल-पिटल फार्मूला के कहानी 

एह तरह के फिलिमन में ढाई घंटा के फिलिम में दर्जन भर एक्शन सीन कइसे डालल जाव एह पर जोर दिहल जाला. एह एक्शन सीक्वेंस के जुड़ल राखे खातिर कहानी के खोज कइल गइल बा. कुछ अइसने क के मेकर्स सुप्रसिद्ध कलाकार टाइगर श्रॉफ के कैरियर खतरा में डाल दिहले, अब बारी बा विद्युत जम्मवाल के. कहानी अबकी अइसन बा कि अपहरण क के विदेश ले जाइल गइल अपना मेहरारू के बचा के घरे लवटल समीर के मेहरारू नरगिस के मानसिक हालत ठीक नइखे. इलाज भी चल रहल बा। एगो लईकी लइका परिवार में घुस जाला। मानल जाता कि एकरा से नरगिस के हालत में सुधार होई लेकिन अबकी लईकी के अपहरण हो जाला। एकरा बाद का होई, रउआ बहुत बढ़िया से समझ सकेनी। हिंदी सिनेमा में तकनीकी रूप से कतनो प्रगति भइल बा बाकिर कहानी में निवेश करे के सिस्टम अबहियो एहिजा बढ़िया से बनल नइखे. आ, ई एह फिलिम में भी सबसे कमजोर कड़ी बा.

Khuda Haafiz 2 Review

एक्शन के नाम पर कुछ नया ना

‘खुदा हाफिज अध्याय 2 अग्निपरीक्षा’ फिलिम देखत घरी एह बात पर लगातार बहस चलत रहेला कि खुद विद्युत जम्मवाल अपना गुण-दोष का हिसाब से कहानी काहे ना खोजत बाड़न. अगर ऊ आपन कंपनी खोलले बाड़न त हो सकेला कि भविष्य में अइसन करसु बाकिर उनुका लगे परदा पर हीरो का रूप में देखे के ढेर समय नइखे. एकरा बारे में जेसन स्टेथम के फिलिम भी देखे के चाहीं आ ड्वेन जॉनसन के सिनेमा भी देखे के चाहीं। विद्युत खातिर एह दुनु जने के सोच के कहानी काफी अनुकूल होखीत. फिल्म ‘खुदा हाफिज चैप्टर 2 अग्निपरीक्षा’ में जेल के एक्शन सीक्वेंस आ क्लाइमेक्स चेस सीक्वेंस के छोड़ के अधिकतर सीन में विद्युत अपना के दोहरावत लउकत बाड़न. एकर बॉक्स ऑफिस वैल्यू सुधारे खातिर कम से कम अपना प्रशंसकन के कुछ नया पेश करे के चाहीं. शिवालिका के रचना अभिनय के मामिला में विद्युत जइसन बा. राजेश तैलांग अपना के अतना दोहरावे लागल बाड़न कि ऊ खिसिया रहल बाड़न. शीबा चढ़ा निश्चित रूप से रिस्क लेके कुछ अलग करे के कोशिश कईले बाड़ी।

Khuda Haafiz 2 Review

देखल ना देखल जाव

तकनीकी रूप से निर्देशक फारूक कबीर के फिल्म बंधाई लीक प आधारित फिल्म ‘खुदा हाफिज चैप्टर 2 अग्निपरीक्षा’ अपना सिनेमैटोग्राफी के छोड़ के कवनो विभाग में प्रभावित नईखे करत। जीतन हरमीत सिंह के कैमरा खास कर के एक्शन सीक्वेंस में प्रभावित करेला. संपादक संदीप फ्रांसिस के एह फिलिम के कम से कम 20 मिनट ले छोट राखे के चाहत रहे, तब ई फिलिम ओटीटी खातिर एकदम ठीक रहीत. मिथुन, विशाल मिश्रा आ शब्बीर अहमद सभे मिल के एह फिलिम में एके तरह के गाना बनावे में नाकाम रहलें. अमर मोहिले के बैकग्राउंड म्यूजिक आजुओ बढ़िया बा. हालांकि एह वीकेंड के एक्शन आ अंग्रेजी फिलिम के शौकीन लोग “थोर: लव एंड थंडर” देखसु आ जे लोग बढ़िया कहानी में रुचि राखत बा ऊ लोग “रॉकेटरी: द नम्बी इफेक्ट” देख सकेला. फिलिम ‘खुदा हाफिज चैप्टर 2 अग्निपरीक्षा’ अइसने फिलिम ह जवना के ओटीटी पर देखल बेहतर रही.

 

साभार – अमर उजाला

290090cookie-checkKhuda Haafiz 2 Review: खुद के दोहरावत लउकने विद्युत जामवाल, खुदा हाफिज के दूसरका कड़ी में कुछऊ नया नाइ बा

ईमेल से खबर पावे खातिर सब्सक्राइब करीं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.