Khabar Bhojpuri
भोजपुरी के एक मात्र न्यूज़ पोर्टल।

बॉलीवुड बनाम साउथ फिलिम इंडस्ट्री : लड़ाई अउर पसन्दगी

0 914
सीवान इन्शुरेंस 720 90

रणवीर सिंह के फिलिम जयेशभाई जोरदार फ्लॉप होखल तय बा. साउथ के फिलिमन के जोर त चलत बा बाकिर जयेश भाई जवना स्तर पर बनत बा ओह स्तर के पसंद ना कइल तय बा. चांदी के थाली के चलते आजकल दक्षिण अवुरी उत्तर के बीच अप्रत्यक्ष श्रेष्ठता के लड़ाई चलता। अपना नायकन से कुंठित उत्तर भारतीय दक्षिण के सुपरस्टारन के सादगी से प्यार करत बाड़े. दक्षिण के कलाकार कैमरा से बाहर अभिनय ना करेलें.

बाहुबली, पुष्पा, आरआरआर आ केजीएफ का बाद बॉलीवुड गेम के ओवर कहल गलत होखी. फिलहाल एगो बड़ आबादी चिड़चिड़ापन के चलते हिंदी फिल्म के कंटेंट के बारे में बदतर बोलतिया। परेशान हालत ई बा कि जनता परदा पर ओटीटी जइसन फिलिम पसंद नइखे करत. बॉलीवुड के सुपर स्टार भी अपना रवैया से आम जनता के निराश कईले बाड़े, हमार मुख्य फोकस सलमान खान अवुरी अक्षय कुमार प बाड़े, जेकरा दर्शक के उम्मीद के मुताबिक मेहनत कईल फालतू लागेला। ‘टाइगर जिन्दा है’ के गाना ‘दिल दियाँ गल्लान’ में सलमान सुते के नाटक भी नइखन कर सकत। उ लोग नईखन चाहत। काम एतना आन्हर होके चल रहल बा, छोड़ दीं। आनंद एल राय के ‘अत्रंगी रे’ में धनुष के स्वाभाविक अभिनय क्षमता आ अक्षय कुमार के अंदाज में बड़ अंतर बा.

शाहरुख खान से भी सिनेमाई जनता के नाराजगी के बहुत कारण बा, लेकिन शाहरुख अपना दुनो समकक्ष से जादे मेहनत करेले। उनुका अपना स्टारडम के चिंता बा. इनकर समस्या ई बा कि ऊ लोग उहे क्लिच अभिनय कर रहल बा, अपना स्टारडम के जाल से उबरत नइखे, जवना का चलते प्रभावित लइकी आजु आर्य का बराबर लइकन के महतारी बन गइल बाड़ी सँ. शाहरुख के मन उनका के अपना के बूढ़ माने से मना कर देला। ‘जब हैरी मेट सेजल’ याद रही है – शाहरुख आ अनुष्का एगो गाना में बेफिक्र नवहियन का तरह नाचत बाड़े. शाहरुख के बाल चकनाचूर हो गइल बा, बड़ा जोश से झूलत बा.. लागत बा कि कवनो बुढ़वा गर्मी में पागल हो गइल बा.
एह तीनों के छोड़ के रउरा ए लाइन के बड़का सितारन के धज्जी उड़ा नइखीं कर सकत. आमिर खान, रितिक रोशन, रणबीर कपूर, रणबीर सिंह, विक्की कौशल, आयुष्मान खुराना आ राजकुमार राव वगैरह हर फिलिम के कड़ा तइयारी का बाद उतरत बाड़े. एह सब के अभिनय क्षमता साउथ के सगरी बड़का सितारन से बेहतर बा. आ प्रयोगवादी होखे से ओह लोग में बहुते समानता बा.

भले आयुषमान के फिलिमन के पैटर्न एके जइसन होखे बाकिर ऊ पूरा कोशिश करेलें कि ऊ एगो अलगे अंदाज में नजर आवे. उनकर आवे वाली फिलिम एगो मध्यमवर्गीय संघर्षरत नवही के स्थायी छवि से अलग बाड़ी सँ.
ऋतिक रोशन के एह प्रस्तुति से संजय लीला भंसाली के निहोरा में इउथैनेसिया के माँग करे वाला आदमी के जान मिल गइल रहे. रणबीर कपूर ‘रॉकस्टार’ में दिल टूटे के दर्द के अभिव्यक्ति दिहले। आमिर अपना समर्पण के एगो नया आयाम दंगल में देखवले. निर्देशक के कहला पर रणवीर सिंह सुग्गा आ मछरी तक बन सकेला. राजकुमार राव हर तरह के एक्टिंग बिना कवनो मेहनत के करेलें, उनुका, विक्की कौशल आ आयुषमान का चलते हिंदी फिलिम हकीकत का ओर बढ़ रहल बाड़ी सँ. प्रयोग जारी बा. फ्लॉप आ जाई। प्रक्रिया बढ़िया बा।
सकारात्मक पहलू ई बा कि दक्षिण भारत से आइल तूफान से पान इंडिया आन्दोलन पैदा हो गइल बा. लोग उड़ के सिनेमा हॉल में पहुंचल। स्टाइल चालू बा। रॉकी भाई के जीवन से बड़ किरदार लॉकडाउन से पैदा होखेवाला अवसाद के दूर कर रहल बा। देश मादा भ्रूण हत्या जईसन सामाजिक समस्या देखे के मूड में नईखे। मुद्दा कश्मीर के फाइल देखावे के बा। गुजरात के लईका अपना बेटी के बचावे खाती पिता के डर से घर से भाग गईल…

महेश बाबू उनका से आपन नया तेलुगू फिलिम के हाइप करे के कहले कि बॉलीवुड उनुका के बर्दाश्त नइखे कर सकत, सच्चाई उहो जानत बा कि टाइगर श्रॉफ इहाँ उनुका जतना चार्ज करेला, हेरोपंटी 2 देखला के बाद कई गो कंटेंट प्रेमी कोमा में चल गईले।हुह। दुनु जने मिल के एगो गुटखा कंपनी खातिर विज्ञापन कइले बाड़न।

 

– अतः तापस (पत्रकार एवं समीक्षक)

251100cookie-checkबॉलीवुड बनाम साउथ फिलिम इंडस्ट्री : लड़ाई अउर पसन्दगी

ईमेल से खबर पावे खातिर सब्सक्राइब करीं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.