Khabar Bhojpuri
भोजपुरी के एक मात्र न्यूज़ पोर्टल।

का कौने बात के बदला ले रहल बा रूस?

आखिर यूक्रेनके खिलाफ काहें एतना खूंखार रवैया अपनावता रूस

179

एह बात में अटकलन के कमी नाइ बा कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के यूक्रेन के लेके इरादा का बा। बड़की रूस के सेना यूक्रेन के घेर लेहले बिया अउर उहवाँ एकरे जमावड़ा भइले के वजह का बा। एह बडका आकार के (द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से यूरोप में लड़ाकू सेना के सबसे बड़हन जमावड़ा) एगो अधिकतमवादी सोच ओर इसारा करsता। ऊ ह यूक्रेन के अलगे-अलगे मोर्चा पs खूनी अउर तेज आक्रमण कके 30 साल पहिले सोवियत संघ के टूरले के अपमान के खतम कइल चाहता। ए मौका पs एगो बड़हन पैमाने पर हमला बुझात बा। लमसम 80% रूसी सेना अब युद्ध खातिर तइयार स्थिति में बा अउर पूर्वी यूक्रेन में अलगाववादी नेता सब औपचारिक रूप से मदद के निहोरा कइले बानें सब, जेकरे पीछे उनकर यूक्रेनी सेना के ओर से हमला के झूठहां दावा बा।

का पुतिन के खीस जाहिर कइल सही बा? 
कुछऊ हो सकेला, लेकिन रूसी उद्देश्य के व्याख्या कइसे कइल जाए, यह सवाल 22 फरवरी के मास्को में अपने सुरक्षा परिषद के संगे पुतिन की विचित्र बैठक के बाद साफ हो गइल रहे। बइठक में, ऊ रूस के जासूस प्रमुख सर्गेई नारिश्किन के हिदायत के भुला गइले अउर डोनेट्स्क अउर लुहान्स्क के आजादी के मान्यता देहले के बजाय, उनके सोझे रूस में सामिल कइले का समर्थन करे खातिर बेज्जत कइले रहे। बइठक पहिले से तय रहल। इहवाँ ले ​​​​कि पुतिन के अपना घड़ी पs देखावत रहल समइओ ई बतावत रहे कि डोनेट्स्क अउर लुहान्स्क के आजादी के मान्ता देहले के हस्ताक्षर समारोह में उनके प्रमुखन के संगे बइठक शुरू भइले के पहिलहीं हो चुकल रहे। लेकिन बाद में पुतिन के खीस भरल भाषन ई साफ़ क देहलस कि ई संघर्ष केतना व्यक्तिगत हो सकेला।

222000cookie-checkका कौने बात के बदला ले रहल बा रूस?

ईमेल से खबर पावे खातिर सब्सक्राइब करीं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.