Khabar Bhojpuri
भोजपुरी के एक मात्र न्यूज़ पोर्टल।

UPSC Topper : IAS बनली इशिता किशोर, गरिमा लोहिया आ उमा के बारे में इ का सर्च करतारे लोग, स्मृति के खोज अलग

314

 

हाईकोर्ट बिहार में जाति आधारित जनगणना पs रोक लगा देलस। कोर्ट के कहल बा कि जवना के सरकार जाति आधारित सर्वेक्षण कहत बिया जबकि ओकर मंशा हर नागरिक के जाति जाने के लागत बा। हाईकोर्ट जाति के आधार पs जनसंख्या गणना के काम बंद क देले बा, लेकिन इंटरनेट पs जाति जांच के रोक सकता! संघ लोक सेवा आयोग के टॉपर के जाति के जाँच करे खातिर इंटरनेट पs मेगा अभियान चल रहल बा। टॉप 10 में शामिल चारो लईकिन के जाति जाने खातीर बेताब यूजर गूगल पs अईसन खोज करतारे।

रिजल्ट के दू दिन बाद ट्रेंडिंग देखीं

गूगल पर ट्रेंड बतावत बा कि रिजल्ट के अगिला दिन से यानी बुधवार से टॉपर के जाति जाने वाला यूजर के संख्या तेजी से बढ़ रहल बा। दुनो बिहारी महिला टॉपर के नाम के पहिला अक्षर डाल के जानल चाहत रहली कि का ट्रेंड होखता, तब 10 सबसे जादा खोजल गईल कीवर्ड-Uma Harathi Caste Category, Uma Harathi n caste, Ishita Kishore Caste Category, Uma Harathi UPSC Biography, Garima Chaurasia age, Uma Harathi Caste, Garima Lohia Caste Category, Kishore Caste, Ishita Kishore Caste, Ishita Kishore Category मिलल।

शीर्षक के अस्पष्टता के चलते ई खोज

चारो टॉपर भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी बन के देश के सेवा करे जा रहल बाड़े, लेकिन अपना जाति के जाने के बेचैनी इंटरनेट प साफ-साफ देखाई देता। इशिता किशोर आ गरिमा लोहिया बिहार के हउवें। तेलंगाना से उमा हरथी अउर उत्तर प्रदेश से स्मृति मिश्रा। टॉपर सूची में क्रमशः ए चारो लईकिन में स्मृति मिश्रा के खिताब से साफ-साफ देखाई देता। स्मृति के युग जाने के बहुत इच्छा बा। बाकी तीन लोग खातिर इंटरनेट यूजर्स में आपन जाति जाने के बहुते इच्छा बा, काहे कि ओह लोग के नाम में कवनो जाति आधारित उपाधि नइखे। लोहिया के उपाधि पे संदेह बा आ किशोर कवनो जाति के उपाधि बिल्कुल नइखे।

इनकर संघर्ष के जानल जादा जरूरी बा

बिहार के दुनो लईकी के जाति जाने से जादे जरूरत बा ओ लोग के संघर्ष के जाने के चाही। इशिता के पिता वायुसेना में रहले। बहुत पहिले से गुजर चुकल बानी। इशिता के माई पटना छोड़ के नोएडा में रह गईली ताकि उनुका संतान हो सके। बाप के इच्छा पूरा करे खातिर। ई इच्छा पूरा हो गइल बा। खबर भोजपुरी इशिता के मेहनत के संगे उनुकर महतारी ज्योति किशोर के संघर्ष के नमन करत बा। दूसर नाम गरिमा लोहिया ह। गरिमा के पिता के भी 2015 में बेमारी से मउत हो गईल रहे। गरिमा के मेहनत में उनुका महतारी सुनीता लोहिया के संघर्ष के बहुत बड़ योगदान बा। आजु उ अपना बेटी के उपलब्धि से खुश बाड़ी, त अपना पति के इयाद करत उनुकर गला रुंध जाता।

 

 

 

 

 

 

 

552380cookie-checkUPSC Topper : IAS बनली इशिता किशोर, गरिमा लोहिया आ उमा के बारे में इ का सर्च करतारे लोग, स्मृति के खोज अलग

ईमेल से खबर पावे खातिर सब्सक्राइब करीं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.