Khabar Bhojpuri
भोजपुरी के एक मात्र न्यूज़ पोर्टल।

ए बेर अक्षय तृतीया पे बियाह के कवनो नइखे योग, कारण जानि

अक्षय तृतीया 2023 विवाह तिथि : अबकी बेर अबूझ मुहूर्त में भी हमनी के बियाह नईखी क सकत काहे कि बृहस्पति अस्त होखत, जवना के चलते शुभ काम नईखे हो सकत।

1,842

अक्षय तृतीया विवाह मुहूर्त : हर साल अक्षय तृतीया के दिन अबूझ मुहूर्त में लोग के बियाह होला। अबूज मुहूर्त के मतलब होला बिना कवनो मुहूर्त के शुभ काम कइल। लेकिन अबकी बेर अबूझ मुहूर्त में भी हमनी के बियाह नईखी क सकत काहे कि बृहस्पति डूब रहल बा जवना के चलते शुभ काम नईखे हो सकत। हालांकि खरमास 15 अप्रैल के खतम हो गईल रहे, लेकिन बियाह के शुभ समय 2 मई के बाद शुरू हो जाई।

 

बता दीं कि हर साल जे लोग बियाह खातिर शुभ समय ना पावे पावेला आ कवनो कारण से जल्दी बियाह करे के पड़ेला, ऊ लोग अक्षय तृतीया के दिने ही करेला। बता दीं कि अबकी बेर त्रिपुष्कर योग, सर्वार्थ सिद्ध योग, रवि योग, अमृत सिद्धि महायोग के संयोजन बन रहल बा।

 

सोना खरीदे के का शुभ समय बा

22 अप्रैल 2023, शनिचर, 07:49 बजे से अगिला दिन 23 अप्रैल 2023, अतवार, 07:47 बजे ले।

अक्षय तृतीया पे शुभ संजोग हो रहल बा, अगर रउरा एह दिन कवनो काम करब त सफलता मिली।

किसानन खातिर नया साल एह दिन से शुरू होला। ओह लोग के मानना ​​बा कि एह दिन खेती आ कोठी से जुड़ल काम कइल बहुते बढ़िया रही। आईं बताईं कि एही दिन नर-नारायण, श्री परशुराम आ हयग्रीव के जनम भइल रहे, एही से वैशाख तृतीया भी एह लोग के जयंती के रूप में मनावल जाला। एकरा अलावे एगो अउरी मान्यता बा कि भगवान विष्णु के जन्म वैशाख शुक्ल पक्ष के तृतीया पे रेणुका के गर्भ से परशुराम के रूप में भईल रहे।

 

 (अस्वीकरण: इहाँ दिहल जानकारी सामान्य मान्यता आ जानकारी पे आधारित बा। खबर भोजपुरी एकर पुष्टि नइखे करत।)

 

 

 

525070cookie-checkए बेर अक्षय तृतीया पे बियाह के कवनो नइखे योग, कारण जानि

ईमेल से खबर पावे खातिर सब्सक्राइब करीं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.